ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
बॉक्सिंग न्यूज़अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजीAnthony Yarde ने अपनी हार पर कहा आखरी पल मे कुछ भी...

Anthony Yarde ने अपनी हार पर कहा आखरी पल मे कुछ भी हो सकता था

Boxing News in Hindi

बॉक्सिंग न्यूज़: Anthony Yarde ने अपनी हार पर कहा आखरी पल मे कुछ भी हो सकता था

Anthony Yarde ने अपनी हार पर कहा आखरी पल मे कुछ भी हो सकता था। उन 8 राउंड के सबसे खतरनाक और तगड़ी फाइट जो लंदन के वेम्बली स्टेडियम मे हुआ था। ये लाइट-हैवीवेट  मुकाबलो मे से सबसे बेहतरीन मुकाबले मे से एक था। दोनो बोक्सर्स ने अपना खून पसीना एक करके लड़ रहे थे। जहाँ आखरी राउंड तक विजयता का पता कर पाना बहुत ही मुश्किल हो गया था जजस् के लिए, Yarde ने कहा मेरी ज़िंदगी का सबसे बढ़िया मैच ये रहेगा उन्होंने कहा, मे जीत से कुछ ही अंक दूर था।

अभी भी है चोट का असर बोले Yarde

Yarde और अर्तुर बेटरबिएव का मुकाबला अब तक सबसे ज्यादा देखे जाने वाले मुकाबलो मे से एक बन गया है। जहाँ दोनो फाइटर्स ने अपने आखरी राउंड तक टिके रहे बहुत ही मलिन पॉइंट्स से बेटरबिएव को विजयता घोषित करार दिया गया था। उस मैच कि हार के बाद Yarde ने अपने प्रेस कांफ्रेंस कि जिसमे उन्होंने कहा अंत में हम दोनों को टाँके लगे, बाद में काले चश्मे को पहनते हुए देखे गए । “हम एक ही मेडिकल रूम में बैठकर अपना मेडिकल एक साथ कर रहे थे।

Yarde ने अंत तक बहादुरी से लड़ाई लड़ी थी, जो आठवें राउंड में 2:01 पर आए थे, और WBO, IBF और WBC चैंपियन की शक्ति के लिए आखरी तक खड़े थे, जैसे किसी ने भी अपने पिछले 18 मुकाबलों के दौरान नहीं किया था। मेरे पास एक विजेता की मानसिकता है इसलिए मैं उन तीन वर्ल्ड टाइटल को घर लाना चाहता था लेकिन यह बॉक्सिंग है, जो दुनिया का सबसे कठिन खेल है। मैंने सोचा कि मैं इसे करने जा रहा था, मैंने सोचा ‘मेने मुकाबला जीत ही लिया था।

पढ़े : Artur Beterbiev ने कहा उस्यक से लड़ने के लिए हूँ तयार

उसने मुझे एक कोने में खड़ा कर दिया था और मुझे बहुत से कठिन शॉट मार रहा था लेकिन मैंने सोचा, अगर मैं बस चलता रहता हूं, तो मैं कर सकता हूं। मैं अपने आप को गति दे रहा था,जो मेने पिछले अनुभवों से सीखा था। लेकिन फिर मैंने उसे मारा और उसने मुझे वापस मारा। मे पहले से बेहतर हूँ और मैं वापस आऊंगा। मैं बहुत महत्वाकांक्षी हूं और खुद से झूठ नहीं बोलता या बकवास नहीं करता हूँ, मैं एक वास्तविक चरित्र हूं। मैंने वास्तव में सोचा था कि मैं जीत सकता हूं।

मैंने गिनती शुरू होते हुए सुना, मैंने अपना समय लिया, मैंने गिनती को हरा दिया, लेकिन मेरे ट्रेनर और मेरी टीम ने मुझे प्यार किया और कहा कि वे कुछ ऐसा देख रहे हैं जो उन्हें पसंद नहीं आया। मैं बस यही सोच रहा था, कि कैसे भी उठो, फिर से उसके पास जाकर लड़ो। मे विश्वास के साथ केहता हूँ कि अगली बार जीत मेरी होगी।

  • बॉक्सिंग चैंपियनशिप
  • WBA
Satish Kumar
Satish Kumarhttps://boxingpulsenews.com/
बॉक्सिंग मेरा पैशन है। मैं बॉक्सिंग और बॉक्सिंग की कहानियों के बारे में लिखता हूं। और मुझे आपके साथ बॉक्सिंग पर अपने विचार साझा करना अच्छा लगता है।

बॉक्सिंग हिंदी लेख

नवीनतम बॉक्सिंग न्यूज़ इन हिंदी