ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
बॉक्सिंग न्यूज़अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजीजर्मेल चार्लो ने कहा की उनके भाई चार्लो ने बहादुरी से लडाई

जर्मेल चार्लो ने कहा की उनके भाई चार्लो ने बहादुरी से लडाई

Boxing News in Hindi

बॉक्सिंग न्यूज़: जर्मेल चार्लो ने कहा की उनके भाई चार्लो ने बहादुरी से लडाई

जर्मेल चार्लो ने कहा की उनके भाई चार्लो ने बहादुरी से लडाई की, चार्लो बनाम कैनेलो के मुकाबले मे कैनेलो ने सातवे राउंड मे चार्लो को हराकर अपने सुपर मिडलेवेट टाइटल को अपने पास ही बरकरार रखा। लेकिन चार्लो ने अपने बॉक्सिंग करियर मे वो सब कुछ हासिल कर लिया जो वो करना चाहते थे। उन्होंने फेथरवेट टाइटल से लेकर सारे उन टाइटल को अपने हाथ किया। उनका ये आखरी ख्वाइश थी की वो अपने करियर के अंत के इस पर्व कैनेलो जैसे एक बड़े सुपरस्टार को हराकर करे, जो सायद नही हो पाया।

दोनो भाईयों की जुगल बंदी

चार्लो जुड़वाँ एक साथ मुक्केबाजी की दुनिया में टॉप पर पहुँचे हैं, लेकिन रास्ते में उनके रिश्ते में कुछ रुकावटें आईं। इस जोड़ी का जन्म 19 मई, 1990 को लुइसियाना के लाफायेट में हुआ था, लेकिन उनकी स्कूली शिक्षा और पालन-पोषण ह्यूस्टन, टेक्सास में हुआ। दोनों में से छोटे जर्मेल का जन्म उसके बड़े भाई जर्मेल के एक मिनट बाद हुआ था। दोनों को अपने पिता केविन के नक्शेकदम पर चलने के लिए कम उम्र में ही मुक्केबाजी से परिचित कराया गया था।

दोनों ने अजेय रिकॉर्ड बनाने की दौड़ में भाग लिया लेकिन वह जेर्मल ही थे जिन्होंने सितंबर 2015 में IBF लाइट-मिडिलवेट टाइटल जीतकर सबसे पहले गोल्ड पदक जीता। मई 2016 में इतिहास-परिभाषित रात से पहले उन्होंने बेल्ट का एक बचाव किया। जेर्मेल ने 154 पाउंड के सम्मान के लिए भी लड़ाई लड़ी, उसी रात जॉन जैक्सन को हराकर जेर्मेल ने ऑस्टिन ट्राउट को हराया। लेकिन कैनेलो के साथ खेलना उन्हे और थोड़ा प्रयास की ज्यादा जरूरत थी।

पढ़े : सवाना मार्शल 2024 तक बॉक्सिंग से रहेंगी दूर

मेरे भाई ने बढ़िया लडाई लडी

जर्मेल चार्लो ने पहले ही साबित कर दिया कि वह कितने महान थे। जब आप किसी भी डिवीजन में हर विश्व खिताब जीतते हैं, लेकिन विशेष रूप से 154 पाउंड में, तो कुछ भी नहीं बचता है जिसे आपको साबित करने की आवश्यकता होती है। अल्वारेज़ से लड़ना एक सपना जैसा प्रतीत होता है क्योंकि उनका वजन बढ़ गया था लेकिन एक बार उन्हें एक मनमाना कॉल दिया गया था आधी रात को, चार्लो ने ख़ुशी से इस मैच को स्वीकार कर लिया।

हो सकता है कि उन्होंने अपने सुपर मिडिलवेट डेब्यू के लिए सामान्य वजन बढ़ाने में अधिक समय बिताया हो।लेकिन चार्लो ने दुनिया भर के प्रशंसकों से वादा किया कि उसके आक्रामक बैग में काम पूरा करने के लिए पर्याप्त से अधिक है। अंत, वह अविश्वसनीय रूप से गलत था।यह हार पूर्ण सदमा नहीं था। अधिकांश प्रशंसक उन्हें अपनी नाराजगी दूर करने का मौका नहीं दे रहे थे।हो सकता है कि कुछ लोगों ने उनका समर्थन किया हो लेकिन अधिकांश लोग अल्वारेज़ के साथ थे, पर उनके भाई का मानना था, की उन्होंने बढ़िया लडाई लडी

Satish Kumar
Satish Kumarhttps://boxingpulsenews.com/
बॉक्सिंग मेरा पैशन है। मैं बॉक्सिंग और बॉक्सिंग की कहानियों के बारे में लिखता हूं। और मुझे आपके साथ बॉक्सिंग पर अपने विचार साझा करना अच्छा लगता है।

बॉक्सिंग हिंदी लेख

नवीनतम बॉक्सिंग न्यूज़ इन हिंदी