ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
बॉक्सिंग न्यूज़अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजीमिडिलवेट की लडाईयों मे देखी जा रही है कमी

मिडिलवेट की लडाईयों मे देखी जा रही है कमी

Boxing News in Hindi

बॉक्सिंग न्यूज़: मिडिलवेट की लडाईयों मे देखी जा रही है कमी

मिडिलवेट की लडाईयों मे देखी जा रही है कमी, एक समय था, जब मिडलेवेट मे कमाल की फाइट हुआ करती थी। जहाँ एक समय मे हेवी वेट वे ज्यादा लडाईयों का रेकॉर्ड हुआ करता था। अब स्थिति ऐसी हो गई है, की मिडलेवेट मे अब ज्यादा बोक्सर की बरमार नही है, जो है वो भी बहुत ही कम आयु मे बॉक्सिंग को छोड़ नई दिशा की और जा रहे है, जो मिडलेवेट बॉक्सिंग के स्तर पर बड़ा सवाल खडा कर रहा है।

पैसों के दर पर कमी

एक समय मे बॉक्सिंग मे मिडलेवेट मे जैसे बोक्सरस् और जिस तरह का पैसा चलता था, लोग हमेशा चरम मे हुआ करते थे। लेकिन जैसे जैसे मिडलेवेट मे बोक्सर की लोकप्रियता कम होती गई कही बोक्सर अलग डिविजन की और चल पड़े। और लोगो को भी इस डिविजन मे ज्यादा लुभाव नही होने के कारण कम पैसा इस डिविजन मे लगने लगा।मार्विन हैगलर, बर्नार्ड हॉपकिंस और गेनाडी गोलोवकिन सभी ने खुद को बड़े नामों वाले छोटे लोगों की प्रतीक्षा में पाया जो उन्हें परिभाषित करने के पैमाने पर आएंगे।

हॉपकिंस और गोलोवकिन में जर्मेन टेलर, केली पावलिक, पॉल विलियम्स और सर्जियो मार्टिनेज ने कुछ यादगार एक्शन किया। शाऊल अल्वारेज़, वर्ग के अंतिम सुपरस्टार, ने क्लासिक ग्लैमर डिवीजनों में से एक के रूप में अपनी जगह बनाए रखी। आज का बॉक्सिंग पूरी तरह से ग्लेमोर से भरा हुआ है।पिछली बार सुपर मिडिलवेट में अल्वारेज़ से हार के बाद गेनाडी गोलोवकिन ने चुपचाप डिवीजन में आईबीएफ और डब्लूबीए बेल्ट खाली कर दी थी और उन्हें सेवानिवृत्त मान लिया गया है।

पढ़े : जल्द वर्ल्ड टाइटल के लिए लड़ना चाहता हूँ बोले टॉमी फ्यूरि

अब ये डिविजन हो रही गिरावट

मिडिलवेट के लिए समस्या, जिस चीज़ पर डिवीज़न अपने सबसे कठिन वर्षों के दौरान भी अपनी टोपी लटका सकता है, वह यह है कि अभी डिवीज़न को एक पहचान देने के लिए कुछ भी नहीं है। यदि यह एक टीम खेल होता, तो कोई इसे पुनर्निर्माण चरण के रूप में संदर्भित कर सकता है।यह मिडिलवेट में कुछ है, और अन्य विरोधियों से लड़ने वाले अलीमखानुली और गुआल्टिएरी के विकल्प से कुछ बेहतर है, जिसमें किसी ने भी विशेष रूप से निवेश नहीं किया है।

प्रत्येक डिवीजन में डाउन पीरियड होते हैं और मिडिलवेट नीचे नहीं रहेगा। जब से नॉनपेरिल जैक डेम्पसी ने पहले मिडिलवेट ताज का दावा किया है तब से लोग लगभग 160 पाउंड में अमीर हो रहे हैं। डिविजन में अम्मो विलियम्स और एलिजा गार्सिया जैसी कुछ होनहार युवा प्रतिभाएं हैं। जो इसे आगे बढ़ाने का काम कर सकती है।

Satish Kumar
Satish Kumarhttps://boxingpulsenews.com/
बॉक्सिंग मेरा पैशन है। मैं बॉक्सिंग और बॉक्सिंग की कहानियों के बारे में लिखता हूं। और मुझे आपके साथ बॉक्सिंग पर अपने विचार साझा करना अच्छा लगता है।

बॉक्सिंग हिंदी लेख

नवीनतम बॉक्सिंग न्यूज़ इन हिंदी