ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
बॉक्सिंग न्यूज़अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजीवाइल्डर के खिलाफ ज़रूर होगी लडाई बोले अलेक्जेंडर क्रास्युक

वाइल्डर के खिलाफ ज़रूर होगी लडाई बोले अलेक्जेंडर क्रास्युक

Boxing News in Hindi

बॉक्सिंग न्यूज़: वाइल्डर के खिलाफ ज़रूर होगी लडाई बोले अलेक्जेंडर क्रास्युक

वाइल्डर के खिलाफ ज़रूर होगी लडाई बोले अलेक्जेंडर क्रास्युक,WBO IBF, IBO, WBA हैवीवेट चैंपियन ऑलेक्ज़ेंडर उस्यक के लिए क्रास्युक प्रमोटर, डोंटे वाइल्डर को अपने मुक्केबाज के लिए भविष्य के प्रतिद्वंद्वी के रूप में देखते हैं। जोशुआ और डोंटे वाइल्डर इस दिसंबर में एक ही कार्ड पर लड़ने के लिए तैयार हैं। ब्रिटिश फाइटर ओटो वालिन से भिड़ेंगे जबकि वाइल्डर जोसेफ पार्कर से मिलेंगे। यह एक साल से अधिक समय में पहली बार होगा जब वाइल्डर रिंग में उतरेंगे। वाइल्डर ने स्वीकार किया है कि वह अभी भी विश्व का एकीकृत हैवीवेट चैंपियन बनना चाहते है, इस बात पर जोर देते हुए कि उसे अपने करियर में पहले ही डिवीजन के बेल्ट को एकजुट करने का मौका मिलना चाहिए था।

वाइल्डर भी है एक बढ़िया विकल्प

कुछ महीनो पहले जोशुआ और वाइल्डर के मुकाबले की बात चल रही थी जहाँ दोनो बोक्सर्स एक दूसरे के खिलाफ लड़ने के लिए तयार हो गए थे, लेकिन वाइल्डर मुकाबले को जनवरी मे चाहते पर जोशुआ दिसंबर मे चाहते थे, जहाँ दोनो के बीच बात नही बनी कही कोशिशों के बाद उसके बाद दोनो ने 23 तारीख को अलग अलग लड़ने का फैसला कर लिया था, और एक तरफ फ्यूरि और उस्यक् फेब 3 को लड़ने वाले है जहाँ उनकी लडाई 23 तारीख को तय हुई थी।

लेकिन फ़्यूरि को नगुणो के खिलाफ़ लगी चोट के कारण इस लडाई को देर कर दिया है। जहाँ उस्यक् और फ़्यूरि अपने अगले बड़े लडाई की तयारी कर रहे है। एक और क्रास्युक का मानना है कि वाइल्डर और उस्यक् कि लडाई के बारे मे भी सोच रहे है।दो-तरफा दोबारा मैच होता है, लेकिन इसकी कोई गारंटी नहीं है कि वास्तव में दूसरी लड़ाई होगी।क्रास्युक पार्कर को वाइल्डर जैसे किसी व्यक्ति के लिए एक बहुत ही खतरनाक प्रतिद्वंद्वी के रूप में देखते है।

पढ़े : कहीं बड़े संगर्ष के बाद इयान ग्रीन ने जीता टाइटल

जल्द ही एक अच्छे खबर के साथ हम आएंगे

इस बारे में बात करने का यह सही समय नहीं है।’ मैं आपको बता सकता हूं कि डोंटे वाइल्डर दुनिया के शीर्ष 3 हेवीवेट में से एक है और निश्चित रूप से, एक मुक्केबाजी प्रशंसक के रूप में, मेरे लिए उसके साथ मुकाबला करना और देखने लायक है। यह निश्चित रूप से एक शानदार लड़ाई होगी तो आइए देखें। लेकिन उसिक के करियर के नजरिए से अभी हम बहुत आगे है। एक बार उस्यक् और फ़्यूरि का मुकाबला खत्म हो जाए फिर हम देखेंगे।

हमने कई बार देखा है कि यह वाइल्डर की कमजोरी है कि वह मुक्केबाज नहीं बल्कि पंचर है। जोशुआ के लिए यह भी एक बड़ी चुनौती है क्योंकि ओटो वालिन डिविजन के सबसे कम रेटिंग वाले सेनानियों में से एक है। वह एक अजीब दक्षिणपूर्वी है और जोशुआ दो हार के बाद आ रहा है और उसकी वापसी की लड़ाई बहुत अच्छी नहीं रही।

  • बॉक्सिंग चैंपियनशिप
  • WBC
Satish Kumar
Satish Kumarhttps://boxingpulsenews.com/
बॉक्सिंग मेरा पैशन है। मैं बॉक्सिंग और बॉक्सिंग की कहानियों के बारे में लिखता हूं। और मुझे आपके साथ बॉक्सिंग पर अपने विचार साझा करना अच्छा लगता है।

बॉक्सिंग हिंदी लेख

नवीनतम बॉक्सिंग न्यूज़ इन हिंदी