ads banner
ads banner
ads banner
ads banner
बॉक्सिंग न्यूज़अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजीयूबैंक और बेन की लडाई के आवेदन को बीबीबीसी ने किया खारिज

यूबैंक और बेन की लडाई के आवेदन को बीबीबीसी ने किया खारिज

Boxing News in Hindi

बॉक्सिंग न्यूज़: यूबैंक और बेन की लडाई के आवेदन को बीबीबीसी ने किया खारिज

यूबैंक और बेन की लडाई के आवेदन को बीबीबीसी ने किया खारिज, भले UKAD ने बेन को फीमेल फरतिलिटी ड्रुग् के केस से बरी कर दिया है लेकिन ब्रिटिश बॉक्सिंग कंट्रोल से उन्हे छूट नही दी गई है, बेन भले ब्रिटेन मे नही लड़ सकते है लेकिन दुनिया के किसी और कोने मे लड़ सकते है। जहाँ इन दोनो की लडाई होनी थी, वहाँ ड्रग्स मामले ने स्मिथ के साथ दो बार लडाई भी करवा दी जहाँ दोनो बोक्सर्स एक एक बार जीते।

बीबीसी के रुख मे कोई बदलाव नही

ब्रिटिश बॉक्सिंग बोर्ड ऑफ कंट्रोल के महासचिव, रॉबर्ट स्मिथ ने मीडिया को बताया कि वे पिछले साल बेन के सकारात्मक दवा परीक्षण की जांच को पूरा नहीं मानते हैं। अफवाहें हैं कि टोटेनहम में 3 फरवरी को लड़ाई पूरी हो चुकी थी। हॉटस्पर स्टेडियम ने गति पकड़ ली है लेकिन स्मिथ का बयान अब इसे संदेह में डाल देता है।प्रत्याशित कैचवेट लड़ाई शुरू में पिछले अक्टूबर में होने वाली थी।

लेकिन लड़ाई हफ्ते के दौरान रद्द कर दी गई जब यह पता चला कि बेन ने प्रतिबंधित पदार्थ क्लोमीफीन के लिए सकारात्मक परीक्षण किया था। इसके तुरंत बाद उसी पदार्थ के दूसरे असफल परीक्षण की खबर आई। स्वतंत्र राष्ट्रीय डोपिंग रोधी पैनल ने बेन का निलंबन हटा दिया था लेकिन ब्रिटिश बॉक्सिंग बोर्ड ऑफ कंट्रोल और यूके एंटी डोपिंग ने उस फैसले के खिलाफ अपील की है। बेन ने फिर सितंबर मे वापसी की और ऑरलैंडो में रोडोल्फो ओरोज्को को हराया। लेकिन अप्रैल 2022 में क्रिस वान हीरडेन को दो राउंड के अंदर हराने के बाद से ब्रिटेन में बॉक्सिंग नहीं की है।

पढ़े : रयान गार्सिया ने कहा ये लडाई मुझे आगे की और ले जाएगी

बोर्ड बेन के तर्क से बिल्कुल खुश नही

बोर्ड को लगता है कि किसी भी एथलीट, सिर्फ एक मुक्केबाज ही नहीं, बल्कि ड्रग्स परीक्षण में असफल होने वाले किसी भी एथलीट को उचित अधिकारियों के साथ जांच से गुजरना होगा और ऐसा नहीं हुआ है, हम ऐसा होने का इंतजार कर रहे हैं और बॉक्सिंग बोर्ड और यूकेएडी शुरुआत से ही ऐसा करने पर जोर दे रहा है और दुर्भाग्य से इसमें देरी हुई है, बॉक्सिंग बोर्ड ऑफ कंट्रोल या UKAD के माध्यम से नहीं।बेन इस देश में मुक्केबाजी करते हैं, हमारे पास उनके लिए इस देश में मुक्केबाजी करने का आवेदन था, जिसे अस्वीकार कर दिया गया है।

क्यूँकि हमारे तरफ से उन्होंने प्रमाण नही दिए है कि वो निर्दोष है, इसलिए वो ब्रिटेन मे लडाई नही कर सकते है। वे इस लडाई को बाहर करवा सकते है इसमे हमे कोई आप्पति नही है।लेकिन वे उचित अधिकारियों के माध्यम से नहीं गए हैं और जैसा कि हमने पहले कहा था, हम वास्तव में शुरू से ही इसे पूरा करने के लिए उत्सुक हैं। अब उन्हे तय करना है कि वो आगे क्या करते है।

  • बॉक्सिंग चैंपियनशिप
  • BBBC
Satish Kumar
Satish Kumarhttps://boxingpulsenews.com/
बॉक्सिंग मेरा पैशन है। मैं बॉक्सिंग और बॉक्सिंग की कहानियों के बारे में लिखता हूं। और मुझे आपके साथ बॉक्सिंग पर अपने विचार साझा करना अच्छा लगता है।

बॉक्सिंग हिंदी लेख

नवीनतम बॉक्सिंग न्यूज़ इन हिंदी